Tuesday, September 16, 2008

पुलिस थाने पर पुलिसकर्मियों का हमला

यदि वाकई में ऐसा हो जाए तो क्‍या हाल हो ? बीबीसी हिन्‍दी ने अपने होमपेज पर आज सुबह ये खबर लगाई जो अभी भी दायीं तरफ की इस लिंक पर जाकर पढ़ी जा सकती है जबकि वाकई में थाने पर भीड़ द्वारा हमला किया गया था जिसमें एक पुलिसकर्मी की मौत भी हो गई थी।


इतने प्रतिष्ठित न्‍यूज वेबसाइट पर ऐसी गलतियां पहले देखने को रही हैं। इनसे अनुरोध है कृपया इसे सुधारें और पाठकों को भ्रम में ना डालें।

6 comments:

Suresh Chandra Gupta said...

अगर ऐसा सभी जगह हो जाए तो अच्छा हो. पुलिस वालों द्वारा पुलिस थाने पर हमला, नेताओं द्वारा पार्टी कार्यालय पर हमला, टीचरों द्वारा स्कूल पर हमला, बाबुओं द्वारा दफ्तर पर हमला, मंत्रियों द्वारा प्रधानमंत्री पर हमला. शायद कुछ सुधार हो जाए.

Gyandutt Pandey said...

बीबीसी की साइट लगता है काफी गलतियां करने लगी है।
ऐसी अपेक्षा बीबीसी से नहीं होती। उसकी एक मानक छवि है दिमाग में।

संजय बेंगाणी said...

वाह! मीडिया :)

लोकेश said...

Suresh Chandra Gupta जी से सहमत।
वैसे, ऐसा कुछ कभी-कभी होता भी है!

Udan Tashtari said...

बी बी सी की साईट है, इसलिये अचरज होता है.

अनूप शुक्ल said...

जय बीबी(सी)